Author page: admin

वैदिक वाङ्मय का अध्ययन एवं अनुशीलन

वैदिक वाङ्मय का अध्ययन एवं अनुशीलन

गुरुकुलीय शिक्षा पद्धति में निर्धारित शिक्षा के उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए प्रबंधन समिति ने शिक्षा के उद्देश्य निम्न प्रकार स्वीकार किए हैं- 1-वैदिक वाङ्मय का अध्ययन एवं अनुशीलन 2- शारीरिक विकास एवं चारित्रिक…

वेद की ऋचाऐं प्रकृति के संवर्धन संरक्षण

वेद की ऋचाऐं प्रकृति के संवर्धन संरक्षण

वैदिक विज्ञान के अनुसार जड़ पदार्थों में भी संवेदना की स्थिति है। वैदिक अवधारण में भी प्रकृति के प्रत्येक अंश को चेतन रूप में स्वीकार करते हैं। पंचमहाभूत (अग्नि, वायु, जल, पृथ्वी, आकाश) के गुणधर्मों…

गुरुकुल का संचालन उच्चकोटि के विद्वानों की देखरेख

गुरुकुल का संचालन उच्चकोटि के विद्वानों की देखरेख

गुरुकुल संचालन प्रबंधन समिति ने छात्रों को मानसिक एवं बौद्धिक रूप से स्वस्थ बनाने के लिए योग को प्रमुख रूप से स्वीकार किया है। प्रायः योग के रूप में शारीरिक शिक्षा के अंतर्गत कुछ यौगिक…

गुरुकुलीय शिक्षा पद्धति में निर्धारित शिक्षा के उद्देश्यों

गुरुकुलीय शिक्षा पद्धति में निर्धारित शिक्षा के उद्देश्यों

गुरुकुलीय शिक्षा पद्धति में निर्धारित शिक्षा के उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए प्रबंधन समिति ने शिक्षा के उद्देश्य निम्न प्रकार स्वीकार किए हैं- 1-वैदिक वाङ्मय का अध्ययन एवं अनुशीलन 2- शारीरिक विकास एवं चारित्रिक…